Saturday, June 8, 2024

134+ Latest Desh Bhakti Shayari Hindi | दिल को छू जाने वाली देशभक्ति शायरी

By:   Last Updated: in: ,

Latest Desh Bhakti Shayari Hindi: Hello friends, patriotism is a feeling which cannot be expressed in words but some desh bhakti shayari are such that they awaken the love for the country in us. The special thing about Motivational Deshbhakti Shayari is that this patriotic poetry will paint you in the colors of patriotism and fill you with enthusiasm.

There is a saying that a person who does not love his country has no right to live. Because what kind of a person is he who dedicates everything for the country? Patriotism is within every person, it just needs to be awakened and patriotic sher o shayari in hindi, Shayari on Desh Bhakti, Watan Ke Liye Shayari does this work very well.

In today's post, we have shared with you patriotic shayari, Watan Shayari in Hindi, Desh Bhakti Status In Hindi, Motivational Deshbhakti Shayari, desh bhakti shayari on independence day in hindi, दिल को छू जाने वाली देशभक्ति शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, देश भक्ति शायरी दो लाइन, नई देश भक्ति शायरी, देश भक्ति स्टेटस, desh ke liye shayari which you will definitely like.

Latest Desh Bhakti Shayari Hindi | दिल को छू जाने वाली देशभक्ति शायरी

desh bhakti shayari on independence day in hindi
देशभक्ति शायरी

आजादी की सुलगी चिंगारी मेरे जश्न में हैं

ज्वालाएं इन्कलाब की लिपटी मेरे बदन में हैं

अब तो मौत भी आएगी तो सह लेंगे हँस के

ख़ुशी है की मरने के बाद तिरंगा मेरे कफन में हैं।

aajadi kii sulagii chingaarii mere jashn men hain

jvaalaaen inkalaab kii lipaṭii mere badan men hain

ab to mowt bhii aaegii to sah lenge hans ke

khaushii hai kii marane ke baad tirangaa mere kaphan men hain.


इस बात को हवाओं से बताये रखना

रौशनी होगी बस चरागों को जलाये रखना

हमने लहू देकर की है जिसकी हिफाजत

उस तिरंगे को हमेशा अपने दिल में बसाये रखना।

is baat ko havaaon se bataaye rakhanaa

rowshanii hogii bas charaagon ko jalaaye rakhanaa

hamane lahuu dekar kii hai jisakii hiphaajat

us tirange ko hameshaa apane dil men basaaye rakhanaa.


ना सरकार मेरी है ना रौब मेरा है

ना बड़ा सा नाम मेरा है

मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है

मै हिन्दुस्तान का हूँ और हिन्दुस्तान मेरा है

naa sarakaar merii hai naa rowb meraa hai

naa badaa saa naam meraa hai

mujhe to ek chhoṭii sii baat kaa gowrav hai

mai hindustaan kaa huun owr hindustaan meraa hai


भारत माँ की जय कहना,

अपना सौभाग्य समझता हूँ

अपना जीना मरना अब सब

तेरे नाम ऐ “तिरंगा” करता हूँ

भारत माता की जय

bhaarat maa kii jay kahanaa,

apanaa sowbhaagy samajhataa huun

apanaa jiinaa maranaa ab sab

tere naam ai “tirangaa” karataa huun

bhaarat maataa kii jay

Desh Bhakti Shayari on Independence Day in Hindi

shayari desh bhakti
desh shayari

अपनी आज़ादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं,

सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नही

apanii aazaadii ko ham haragij miṭaa sakate nahiin,

sar kaṭaa sakate hain lekin sar jhukaa sakate nahii


हम अपनी आजादी की कभी शाम ना होने देंगे

अब इस सोने की चिड़िया को समशान ना होने देंगे

जब तक बची है एक भी बूंद लहू की मेरी रगों में

तब तक भारत माता का आंचल नीलाम ना होने देंगे।

ham apanii aajaadii kii kabhii shaam naa hone denge

ab is sone kii chidiyaa ko samashaan naa hone denge

jab tak bachii hai ek bhii buund lahuu kii merii ragon men

tab tak bhaarat maataa kaa aanchal niilaam naa hone denge.


लिख रहा हूँ मैं अंजाम, जिसका कल आगाज आएगा,

मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा

likh rahaa huun main amjaam, jisakaa kal aagaaj aaegaa,

mere lahuu kaa har ek kataraa inkalaab laaegaa


खुशनसीब है वो लोग जो वतन के काम आते हैं

वतन पर मरकर भी ये लोग अमर हो जाते हैं

सलाम करते हैं हम वतन पर मिटने वालों को

उनकी वजह से ही हम चैन की सांस ले पाते हैं।

khushanasiib hai vo log jo vatan ke kaam aate hain

vatan par marakar bhii ye log amar ho jaate hain

salaam karate hain ham vatan par miṭane vaalon ko

unakii vajah se hii ham chain kii saans le paate hain.

Shayari Desh Bhakti | देशभक्ति शायरी

desh ke liye shayari
desh bhakti shayari

भारत की फ़जाओं को सदा याद रहूँगा

आज़ाद था, आज़ाद हूँ, आज़ाद रहूँगा।

– चंद्रशेखर आजाद

bhaarat kii fajaaon ko sadaa yaad rahuungaa

aazaad thaa, aazaad huun, aazaad rahuungaa.

– chandrashekhar aajaad


ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा

ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा

पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए

कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये

Aye mere vatan ke logon tum khuub lagaa lo naaraa

ye shubh din hai ham sab kaa laharaa lo tirangaa pyaaraa

par mat bhuulo siimaa par viiron ne hai praaṇ ganvaae

kuchh yaad unhen bhii kar lo jo lowṭ ke ghar n aaye


शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,

वतन पे मरने वालों का यही बाकी निशां होगा।

shahiidon kii chitaaon par lagenge har baras mele,

vatan pe marane vaalon kaa yahii baakii nishaan hogaa.


लड़ें वो बीर जवानों की तरह

ठंडा खून फ़ौलाद हुआ

मरते-मरते भी कईं मार गिराए

तभी तो देश आज़ाद हुआ

laden vo biir javaanon kii tarah

ṭhanḍaa khuun fowlaad huaa

marate-marate bhii kaiin maar giraae

tabhii to desh aazaad huaa

Desh Shayari - नई देश भक्ति शायरी

desh bhakti shayari hindi
Watan Shayari in Hindi

मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ

यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,

मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,

तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

main bhaaratavarsh kaa haradam amiṭ sammaan karataa huun

yahaan kii chaandanii miṭṭii kaa hii guṇagaan karataa huun,

mujhe chintaa nahiin hai svarg jaakar moksh paane kii,

tirangaa ho kafan meraa, bas yahii aramaan rakhataa huun.


तीन रंग का वस्त्र नही, ये ध्वज देश की शान है

हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान है

यही है गंगा, यही हैं हिमालय, यही हिन्द की जान है

और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान हैं।

tiin rang kaa vastr nahii, ye dhvaj desh kii shaan hai

har bhaaratiiy ke dilo kaa svaabhimaan hai

yahii hai gangaa, yahii hain himaalay, yahii hind kii jaan hai

owr tiin rangon men rangaa huaa ye apanaa hindustaan hain.


शाम होते ही हम बिस्तर पर चले जाते हैं

और सूरज ढलते ही वो सीमा पर तैनात हो जाते है

जय हिन्द | जय हिन्द सेना

shaam hote hii ham bistar par chale jaate hain

owr suuraj ḍhalate hii vo siimaa par tainaat ho jaate hai

jay hind . jay hind sena


लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है,

उछ्ल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी।

lahuu vatan ke shahiidon kaa rang laayaa hai,

uchhl rahaa hai zamaane men naam-e-aazaadii.

Desh ke Liye Shayari - देश भक्ति स्टेटस

Desh Bhakti Status In Hindi
Motivational Deshbhakti Shayari 

यहीं रहूँगा कहीं उम्र भर न जाउँगा,

ज़मीन माँ है इसे छोड़ कर न जाऊँगा।

yahiin rahuungaa kahiin umr bhar n jaaungaa,

zamiin maan hai ise chhod kar n jaauungaa.


इस देश की हिफाज़त ही मेरा ईमान है

मेरे वतन में ही बसती मेरी जान है

भारत देश पर कुर्बान है मेरा सब कुछ

मेरा देश ही मेरी असली पहचान है।

is desh kii hiphaazat hii meraa iimaan hai

mere vatan men hii basatii merii jaan hai

bhaarat desh par kurbaan hai meraa sab kuchh

meraa desh hii merii asalii pahachaan hai.


वतन की मोहब्बत हम में खुद को तपाये बैठे है

हम मरेंगे तो वतन के लिए ये मौत से शर्त लगाये बैठे हैं।

vatan kii mohabbat ham men khud ko tapaaye baiṭhe hai

ham marenge to vatan ke lie ye mowt se shart lagaaye baiṭhe hain.


खुशनसीब हैं वो जो  वतन पर मिट जाते हैं

मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं

करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों

तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है

khushanasiib hain vo jo  vatan par miṭ jaate hain

marakar bhii vo log amar ho jaate hain

karataa huun unhen salaam e vatan pe miṭane vaalon

tumhaarii har saans men tirange kaa nasiib basataa hai

Watan Shayari in Hindi | शहीद देश भक्ति शायरी

Shayari on Desh Bhakti
Watan Ke Liye Shayari

लिपट कर कई बदन इस तिरंगे में आज भी आते हैं

दोस्तों यूँ ही नहीं हम 15 अगस्त हुए 26 जनवरी मनाते हैं।

lipaṭ kar kaii badan is tirange men aaj bhii aate hain

doston yuun hii nahiin ham 15 agast hue 26 janavarii manaate hain.


वतन की मोहब्बत में खुद को तपाये बैठे है,

मरेगे वतन के लिए शर्त मौत से लगाये बैठे हैं

vatan kii mohabbat men khud ko tapaaye baiṭhe hai,

marege vatan ke lie shart mowt se lagaaye baiṭhe hain


दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की नफरत,

मेरी मिटटी से भी खुशबू-ए-वफ़ा आयेगी।

dil se nikalegii n mar kar bhii vatan kii napharat,

merii miṭaṭii se bhii khushabuu-e-vafaa aayegii.


है नमन उनको कि जो यशकाय को अमरत्व देकर

इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं

है नमन उनको जिनके सामने बौना हिमालय

जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं

hai naman unako ki jo yashakaay ko amaratv dekar

is jagat men showry kii jiivit kahaanii ho gaye hain

hai naman unako jinake saamane bownaa himaalay

jo dharaa par gir pade par aasamaanii ho gaye hain

Desh Bhakti Status In Hindi | देश भक्ति शायरी इमेज

नई देश भक्ति शायरी
देश भक्ति स्टेटस

चलो आज फिर से वो नजारा याद कर ले

शहीदों के दिलों में थी जो ज्वाला उसे याद कर लें

जिस कस्ती में सवार हो आजादी पहुंची थी किनारे पर

उन देशभक्तों के खून की वह अविरल धारा याद कर ले।

chalo aaj phir se vo najaaraa yaad kar le

shahiidon ke dilon men thii jo jvaalaa use yaad kar len

jis kastii men savaar ho aajaadii pahunchii thii kinaare par

un deshabhakton ke khuun kii vah aviral dhaaraa yaad kar le.


अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,

इसीलिए तो मेरा भारत सबसे महान है।

anekataa men ekataa hii is desh kii shaan hai,

isiilie to meraa bhaarat sabase mahaan hai.


सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा

हम बुलबुलें हैं उसकी वो गुलसिताँ हमारा

पर्वत वो सबसे ऊँचा हमसाया आसमाँ का

वो संतरी हमारा वो पासबाँ हमारा

सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा।

saare jahaan se achchhaa hindustaan hamaaraa

ham bulabulen hain usakii vo gulasitaan hamaaraa

parvat vo sabase uunchaa hamasaayaa aasamaan kaa

vo santarii hamaaraa vo paasabaan hamaaraa

saare jahaan se achchhaa hindustaan hamaaraa.


कहते हैं अलविदा हम अब इस जहान को

जा कर ख़ुदा के घर से अब आया न जाएगा

हमने लगाई आग हैं जो इंकलाब की

इस आग को किसी से बुझाया ना जाएगा

kahate hain alavidaa ham ab is jahaan ko

jaa kar khaudaa ke ghar se ab aayaa n jaaegaa

hamane lagaaii aag hain jo inkalaab kii

is aag ko kisii se bujhaayaa naa jaaegaa

Motivational Deshbhakti Shayari

देश भक्ति शायरी इमेज
Shayari desh bhakti attitude

जो इस देश का करना नमन छोड़ दे

उससे कह दो की मेरा वतन छोड़ दे

जिसे उसका मजहब प्यारा है देश नहीं

वो इस देश की मिट्टी में होना दफन छोड़ दे।

jo is desh kaa karanaa naman chhod de

usase kah do kii meraa vatan chhod de

jise usakaa majahab pyaaraa hai desh nahiin

vo is desh kii miṭṭii men honaa daphan chhod de.


कुछ पन्ने इतिहास के

मेरे मुल्क के सीने में शमशीर हो गएँ

जो लड़े, जो मरे वो शहीद हो गएँ

जो डरे, जो झुके वो वजीर हो गएँ

kuchh panne itihaas ke

mere mulk ke siine men shamashiir ho Gaen

jo lade, jo mare vo shahiid ho Gaen

jo ḍare, jo jhuke vo vajiir ho Gaen


किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,

मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,

मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,

मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।

kisii gajare kii khushabu ko mahakataa chhod aayaa huun,

merii nanhii sii chidiyaa ko chahakataa chhod aayaa huun,

mujhe chhaatii se apanii tuu lagaa lenaa ai bhaarat maan,

main apanii maan kii baahon ko tarasataa chhod aayaa huun.

Shayari on Desh Bhakti

दिल को छू जाने वाली देशभक्ति शायरी
शहीद देश भक्ति शायरी

इस देश के लिए शहीद होना कबूल है मुझे,

क्योंकि अखंड भारत बनाने का जूनून है मुझे।

is desh ke lie shahiid honaa kabuul hai mujhe,

kyonki akhanḍ bhaarat banaane kaa juunuun hai mujhe.


कुछ लोगों को लगता हैं हिन्दू ख़तरे में हैं

कुछ लोगों को को लगता मुसलमान ख़तरे में हैं

कभी धर्म का चश्मा उतार कर देखो दोस्तों

तब पता चलेगा की हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं।

kuchh logon ko lagataa hain hinduu khatare men hain

kuchh logon ko ko lagataa musalamaan khatare men hain

kabhii dharm kaa chashmaa utaar kar dekho doston

tab pataa chalegaa kii hamaaraa hindustaan khatare men hain.


लिख रहा हूँ मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा,

मेरे लहू के हर एक कतरे से इंकलाब लाएगा।

likh rahaa huun main amjaam jisakaa kal aagaaj aaegaa,

mere lahuu ke har ek katare se inkalaab laaegaa.


ये सिर्फ तीन रंग नही ये देश की शान है

ये तिरंगा हमारे दिलों का स्वाभिमान है

यही है गंगा यही हैं हिमालय यही हमारी जान है

तीन रंगों में रंगा ये अपना प्यारा हिन्दुस्तान हैं।

ye sirph tiin rang nahii ye desh kii shaan hai

ye tirangaa hamaare dilon kaa svaabhimaan hai

yahii hai gangaa yahii hain himaalay yahii hamaarii jaan hai

tiin rangon men rangaa ye apanaa pyaaraa hindustaan hain.

You May Also Like✨❤️👇

Fresher Party Shayari In Hindi

धन्यवाद शायरी हिंदी में

Yadav Shayari in Hindi

Royal Shayari in Hindi

डेविल शायरी स्टेटस   

2 Line Desh Bhakti Shayari - देश भक्ति शायरी दो लाइन

देश भक्ति शायरी दो लाइन
patriotic sher o shayari in hindi

गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा

चमक रहा आसमान में देश का सितारा

आजादी के दिन आओ मिलकर करें दुआ

की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा।

guunj rahaa hai duniyaa men bhaarat kaa nagaadaa

chamak rahaa aasamaan men desh kaa sitaaraa

aajaadii ke din aao milakar karen duaa

kii bulandii par laharaataa rahe tirangaa hamaaraa.


इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना

रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना

लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने

ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाये रखना

itanii sii baat havaaon ko bataaye rakhanaa

rowshanii hogii chiraagon ko jalaaye rakhanaa

lahuu dekar kii hai jisakii hiphaajat hamane

aise tirange ko hameshaa dil men basaaye rakhanaa


इस भारत देश के रखवाले हैं हम

शेर के जैसे बड़े जिगर वाले हैं हम

हम कभी मौत से नहीं डरते हैं

मौत को तो अपनी बाँहों में पाले हैं हम।

is bhaarat desh ke rakhavaale hain ham

sher ke jaise bade jigar vaale hain ham

ham kabhii mowt se nahiin ḍarate hain

mowt ko to apanii baanhon men paale hain hama.


खून से खेलेंगे होली अगर वतन मुश्किल में है

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

देखना है जोर कितना बाजुए कातिल में है।

khuun se khelenge holii agar vatan mushkil men hai

sarafaroshii kii tamannaa ab hamaare dil men hai

dekhanaa hai jor kitanaa baajue kaatil men hai.

Patriotic Shayari in Hindi | Watan Ke Liye Shayari

दिल में जूनून आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ,

दुश्मन की जान निकल जाए आवाज में इतनी दमक रखता हूँ।

dil men juunuun aankhon men deshabhakti kii chamak rakhataa huun,

dushman kii jaan nikal jaae aavaaj men itanii damak rakhataa huun.


मरने का हमें कोई गम नही लेकिन ये खुदा

जिस मिट्टी में मिलूँ वो मिट्टी हिन्दुस्तान की हो।

marane kaa hamen koii gam nahii lekin ye khudaa

jis miṭṭii men miluun vo miṭṭii hindustaan kii ho.


जो अब तक खून ना खौला खून नही वह पानी हैं,

जो इस देश के काम ना आये वो बेकार जवानी हैं।

jo ab tak khuun naa khowlaa khuun nahii vah paanii hain,

jo is desh ke kaam naa aaye vo bekaar javaanii hain.


मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए

बस अमन से भरा यह वतन चाहिए

जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए

और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये

mujhe naa tan chaahie, naa dhan chaahie

bas aman se bharaa yah vatan chaahie

jab tak jindaa rahuun, is maatṛ-bhuumi ke lie

owr jab marun to tirangaa kafan chaahiye


अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं,

सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं।

apanii aazaadii ko ham haragiz miṭaa sakate nahiin,

sar kaṭaa sakate hain lekin sar jhukaa sakate nahiin.

No comments:
Write comment